8 वीं फेल इस लड़के ने महज 23 वर्ष की उम्र में खड़ी कर दी करोड़ों की कम्पनी

0
9

बिल गेट्स ने कहा था, ”मैं अपने एग्जाम में कुछ सब्जेक्ट में फेल हो गया था और मेरे सभी दोस्त पास हो गए थे। अब मेरे सारे दोस्त माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में इंजीनयर है और मैं माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का मालिक हूँ।” यही कहानी लुधियाना के रहने वाले साइबर सिक्योरिटी कंपनी, ‘टैक सिक्योरिटी’ के सीईओ त्रिशनित अरोड़ा की भी है, जिन्हे बचपन से हीं पढ़ाई में बिल्कुल भी मन नहीं लगता था केवल एक हीं सब्जेक्ट था जिसके वे दीवाने थे वो था कंप्यूटर। आज वहीं सब्जेक्ट में पूरी जानकारी हासिल कर करोड़ों की कंपनी खड़ी कर दी है।

8वीं में हुए फेल

लखनऊ के रहने वाले त्रिशनित अरोड़ा को बचपन से हीं पढ़ाई में मन नहीं लगता था। इसी कारण वे 8 वीं तक की परीक्षा में सफल नहीं हो पाए, जिसके बाद उन्होंने रेगुलर पढ़ाई करना हीं छोड़ दिया। लेकिन माता पिता के दवाब के कारण उन्होंने जैसे तैसे कॉरेस्पॉन्डेंस से 12वीं की पढ़ाई पूरी की।

VOTE NOW क्या बिहार में दारू का कानून वापस लिया जायेगा?

नहीं
50.00%
हाँ
50.00%
पता नहीं
0.00%
Story of CEO of Cyber security Company Tac Security Trishneet Arora

कॉरेस्पॉन्डेंस से 12वीं की पढ़ाई

त्रिशनित ने अपनी 12वीं की पढ़ाई रेगुलर से नहीं बल्कि कॉरेस्पॉन्डेंस से की है। बता दें कि, वो पढ़ाई के दौरान सभी सब्जेक्ट्स पढ़ने के अलावे केवल कंप्यूटर पढ़ना पसंद करते थे। घरवालों के ज्यादा दबाव देने के बाद उन्होंने थोड़ी बहुत पढ़ाई की, लेकिन उसमे भी वो सफल नहीं हो पाए, तब जाकर अंत में उन्होंने कॉरेस्पॉन्डेंस से पढ़ाई पूरी की।

कंप्यूटर के दीवाने

त्रिशनित अरोड़ा को कंप्यूटर से बेहद हीं लगाव था। कंप्यूटर हीं एक ऐसा सब्जेक्ट था, जिसको वे बड़ी लगाव के साथ पढ़ते थे। बाद में उन्होंने कंप्यूटर में हीं अपने करियर को बनाने का फैसला कर लिया। फिर उन्होंने एथिकल हैकिंग के क्षेत्र में अपना काम किया और एक प्रसिद्ध एथिकल हैकर बन गए।

See also  Fi Bank Account कैसे खोले? [2022], Fi bank account opening
Story of CEO of Cyber security Company Tac Security Trishneet Arora

शुरू की खुद की कंपनी

त्रिशनित जब महज 19 साल के थे, तभी उन्हे उनके काम के लिए 60 रूपये का चेक मिला था। एक प्रसिद्ध हैकर बनने के बाद उन्होंने खुद की एक कंपनी खड़ी कर दी। आज के समय में उनकी यह कंपनी करोड़ों की बिजनेस कर रही है। उनकी करोड़ों की बिजनेस करने वाली इस कंपनी का नाम ‘टैक सिक्योरिटी’ है।

हैकिंग पर लिखी किताबें

वर्तमान समय में त्रिशनित की उम्र 23 साल हो रही है और इतने कम उम्र में हीं वे जिन मुकाम तक पहुंचे हैं, वो वाकई में काबिले तारीफ है। उन्होंने इसी कम उम्र में ‘हैकिंग टॉक विद त्रिशनित अरोड़ा’, ‘दि हैकिंग एरा’ जैसी बेहतरीन किताबें लिखी हैं, जो हैकिंग पर लिखी है।

अपनी सफलता से त्रिशनित ने लोगों को यह सीख देने का काम किया है कि, किसी भी क्षेत्र में मेहनत और लगन से काम किया जाए तो सफलता जरूर कदम चूमती है। आज के समय में त्रिशनित युवाओं के लिए प्रेरणा बने हुए हैं।

Leave a Reply