सीटीईटी पास रिक्शा वाला और कमांडो टी स्टॉल- अभी वायरल नहीं हो रहा

0
CTET pass rickshaw wala and commando tea stall - just not going viral

PATNA : सोशल मीडिया पर एक वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक नवयुवक रिक्शा चलाता नजर आ रहा है। जानकारी के मुताबिक इस शख्स का नाम जहांगीर है और ये बेगूसराय का रहने वाला है।
वीडियो में आपने देखा होगा कि जहांगीर के रिक्शा के आगे ‘सीटीईटी पास रिक्शा वाला’ लिखा हुआ है, जिसका मतलब है कि जहांगीर सीटीईटी पास उम्मीदवार है, और शिक्षक बनने के योग्य भी है लेकिन बिहार में नौकरी की कमी के कारण उसे रिक्शा चलाने के लिए मजबूर होना पड़ा है। इस वीडियो के वायरल होते ही लोग नीतीश सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले ग्रजुएट चायवाली, आत्मनिर्भर चायवाली की वजह से भी बिहार बेरोजगारी के मामलों में बहुत बदनाम हो चुका है। यही नहीं गोपालगंज में अब एक कमांडो चायवाले ने भी दस्तक दे दी है।
गोपालगंज में एक कमांडो सड़क पर चाय बेच रहा है। वहां से गुजरने वालों की नजर एनएसजी कमांडो के ठेले पर अपने आप रुक जाती है। ठेले पर लगे बैनर पर लिखा है- कमांडो चाय अड्डा। हर तरफ इसकी चर्चा हो रही है। आखिर 75 हजार महीने की तनख्वाह पाने वाले एनएसजी कमांडो को चाय की दुकान लगाने की जरूरत क्यों पड़ी?
गोपालगंज शहर के मौनिया चौक के पास ठेले पर चाय बेचते कमांडो का नाम मोहित पांडेय है। मोहित मोतिहारी जिले के रक्सौल के रामगढ़वा थाना क्षेत्र के गांव सिमहासिनी का रहने वाला है। वह पिछले एक सप्ताह से मौनिया चौक स्थित कलेक्ट्रेट के पास मसाले वाली चाय की दुकान चला रहा है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now



कमांडो ने बताया कि वह 2014 में बीएसएफ में शामिल हुए थे। बाद में प्रतिनियुक्ति पर एनएसजी कमांडो के रूप में कार्य किया। अभी 39 दिन की छुट्टी लेकर घर आया हूं। वे समाज में यह संदेश देना चाहते हैं कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता है। इसी वजह से वे छुट‍्टी में चाय की दुकान चला रहे हैं।

Leave a Reply