HAJIPUR: सावन की तैयारी शुरू – सजने लगे बाबा हरिहरनाथ के दरबार

0
19
HAJIPUR: सावन की तैयारी शुरू – सजने लगे बाबा हरिहरनाथ के दरबार

कोरोना संक्रमण खत्म होने के बाद जिले में पहली बार श्रावणी मेले का आयोजन किया जा रहा है. सोनपुर अनुमंडल प्रशासन और बाबा हरिहरनाथ मंदिर के ट्रस्ट मैनेजर इसकी तैयारी में जुटे हैं. सोनपुर क्षेत्र में पिछले दो साल से कोरोना संक्रमण के कारण श्रावणी मेला नहीं लगा था.

इस बार मेले में पहले से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की संभावना है. जिसके लिए जिला प्रशासन व न्यास समिति प्रबंधक युद्ध स्तर से तैयारी कर रहे हैं। नदी में श्रद्धालुओं के स्नान के लिए कपड़े बदलने, नदी में बैरिकेडिंग करने और मंदिर में जलाभिषेक करने की व्यवस्था के लिए कांवड़ियों का रूट चार्ट चुना गया है.

जिला प्रशासन ने कांवरियों के रास्ते में आने वालीं खराब सड़कें, बिजली के जर्जर तार और पोल एवं रास्ते में आने वाली समस्या के समाधान पर मंथन कर रही है। पहलेजा घाट पर जल भरने के बाद श्रद्धालु हरिहर नाथ मंदिर में जल अर्पित कर सकेंगे। इसको लेकर जिला प्रशासन के तरफ से सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दूसरी तरफ मंदिर के पुजारियों ने भी शिवलिंग पर जलाभिषेक, पूजा-पाठ, शृंगार और आरती के लिए भी समय निर्धारण कर लिया गया है। बाबा हरिहरनाथ मंदिर के न्यास समिति के अध्यक्ष विजय लल्ला ने बताया कि श्रद्धालुओें के लिए कालीघाट से मंदिर के गर्भगृह तक बैरकेडिंग की जाएगी। जिसमें एक तरफ से पुरुष और महिला प्रवेश करेगी। वहीं दूसरी ओर से शिवलिंग पर जलाभिषेक करने के बाद दूसरे गेट से बाहर निकलेगी। इस माह में चार सोमवारी हैं। रोज दिन सुबह 3 बजे शिवलिंग पर रुद्राअभिषेक और मंगल आरती की जाएगी। दोपहर में भोग लगाया जाएगा। इसके बाद संध्या आरती की जाएगी। इस संबंध में पुजारी बमबम बाबा ने फोन पर हुई बातचीत के दौरान बताया कि बाबा हरिहरनाथ मंदिर में मूर्तियों के रंग-रोगन के साथ श्रावणी मेले की तैयारी शुरू कर दी गई है।

VOTE NOW क्या बिहार में दारू का कानून वापस लिया जायेगा?

नहीं
50.00%
हाँ
50.00%
पता नहीं
0.00%
See also  VAISHALI: ऐतिहासिक चौमुखी महादेव मंदिर को खूबसूरती से सजाया गया

इन घाटों पर रहती है भीड़ उमड़ते हैं श्रद्धालु

Baba Hariarnath Mandir Sonepur Hajipur Vaishali Bihar

सावन माह में हाजीपुर के 03 घाटों पर श्रद्धालु स्नान करने के लिए उमड़ते हैं। जिसमें पहलेजा घाट, काली घाट, हरिहरनाथ मंदिर क्षेत्र है। घाट पर महिला श्रद्धालुओं के कपड़े बदलने की व्यवस्था की जाएगी। जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालु पहलेजा घाट पर स्नान करने के बाद जल लेकर हरिहरनाथ मंदिर के गर्भगृह की ओर बढ़ेंगे। जिसमें श्रद्धालुओं के लिए पानी शरबत और मेडिकल की भी व्यवस्था की गई है। विशेषकर डाक बम के लिए विशेष सुविधा दी जाएगी। ताकि उनके रास्ते में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना हो और वे आसानी से शिवलिंग पर जलाभिषेक कर सकें। तीनों घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखे जाएंगे।

एक लेन भोले भक्तों के लिए रहेगी

वहीं श्रावणी मेले को लेकर सोनपुर के एसडीओ, बीडीओ, सीओ और थानाध्यक्ष और अन्य अधिकारियों ने सुरक्षा और अन्य सुविधाओं को लेकर घाटों का जायजा लिया। इस दौरान जिला प्रशासन ने लालू यादव चौक से शिववचन चौक तक जाने के लिए टू-लेन सड़क को एक लेन में परिवर्तित कर दिया है। एक लेन में जलाभिषेक करने वाले श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति रहेगी। दूसरे लेन पर गाड़ी चलेगी। इसको लेकर इंतजाम किए गए हैं।

मेले की सुरक्षा में रहेंगे 400 पुलिस बल

श्रावणी मेले की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सोनपुर के एसडीओ ने पुलिस अधीक्षक से 400 पुलिस जवान की मांग की है। जिसमें 300 पुरुष और 100 महिला पुलिस बल रहेगी। जो मेले में हर गतविधि पर नजर रखेंगी और श्रद्धालुओं की भी मदद करेगी। ट्रैफिक में सुचारु रुप से चलें, इसपर भी विशेष ध्यान रखा जाएगा। इसको लेकर मंदिर के न्यास समिति और जिला प्रशासन की एक बैठक भी हो चुकी है और दूसरी बैठक की तैयारी भी की जा रही है।

See also  HAJIPUR: शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य प्रशिक्षकों की नियुक्ति के लिए जारी किए निर्देश

श्रावणी मेले में रोज शिवलिंग पर रुद्राभिषेक, पूजा, भोग लगाया जाएगा। इसके बाद संध्या में आरती की जाएगी। चार सोमवारी में पहले सरकारी पूजा होगी। उसके बाद आम लोगों के लिए पट खोल दिया जाएगा। – विजय लल्ला, अध्यक्ष, न्यास समिति, बाबा हरिहरनाथ मंदिर।

श्रावणी मेले की तैयारी की जा रही है। इसको लेकर रूट चार्ट, बिजली का जर्जर तार, खराब सड़क का निरीक्षण किया गया है। जिस स्थान पर सड़क खराब है, उसमें मिट्टी और सीमेंट मसाला से दुरुस्त किया जाएगा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए विशेष ध्यान रखा जाएगा। – सुनील कुमार, एसडीओ, सोनपुर

Leave a Reply