मुजफ्फरपुर में पीएम मोदी, अमित श समेत 5 केंद्रीय मंत्रियों पर 6 अगस्त को होगी सुनवाई!

In Muzaffarpur, a case has been registered against many leaders including PM Modi (Complaint Filed Against PM Modi In Muzaffarpur). A complaint has been filed in the court against the privatization of government property. In which it has been said that the government is openly violating Articles 21, 37, 38, 39 of the Constitution of India. Whereas in the constitution it has been said that you cannot violate anyone's fundamental right.

बिहार के मुजफ्फरपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आरोपी बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट-पश्चिमी अदालत में मुकदमा दायर किया है।

जैतपुर ओपी पोखरा निवासी अधिवक्ता विनायक कुमार को स्वीकृति प्रदान की गई है। कोर्ट ने उजूर की सुनवाई के लिए 6 तारीख की तारीख तय की है।

पीएम मोदी समेत कई नेताओं के खिलाफ शिकायत:

विनायक कुमार के वकील सुधीर कुमार ओझा ने कहा कि उन पर संविधान की अवहेलना करने और उज्बेकिस्तान में मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करने का आरोप है। उनका कहना है कि देश के सार्वजनिक संस्थानों का निजीकरण करके समानता के अधिकार को छीन लिया गया है। इससे देश में बेरोजगारी और अराजकता बढ़ी है।

कार्यकारी अधिवक्ता विनायक कुमार की ओर से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, अर्थव्यवस्था मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने धारा 201, 120 बी के तहत मुकदमा दायर किया। IPC के लिए 124A देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है।

See also  बेगूसराय के बाद HAJIPUR में भी हुई फायरिंग! शहरों के बीचो बीच बदमाशों ने चलाई गोलियां

सोर्स: etv भारत