BUSINESS IDEAS: सरकारी नौकरी को मारा ठोकर और शुरू किया गोबर गैस बनाने का काम, अब सालाना 35 लाख रुपये की कमाई हो रहा है

0
BUSINESS IDEAS: सरकारी नौकरी को मारा ठोकर और शुरू किया गोबर गैस बनाने का काम, अब सालाना 35 लाख रुपये की कमाई हो रहा है

हमें यह अहसास जरूर हुआ होगा कि आज के आधुनिक युग में लोग खेती नहीं करना चाहते। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि बढ़ती महंगाई के चलते कृषि अब घाटे का सौदा बन रही है और दूसरी तरफ कृषि में काम करने वाले लोगों को बराबर नजरों से नहीं देख रहे हैं।

आज हम एक ऐसे किसान की बात करेंगे जिसने समाज की इस असमानता को खत्म करते हुए सरकारी नौकरी को खारिज करके कृषि का रास्ता चुना।

तो आइए जानते हैं उस किसान से जुड़ी सभी जानकारियां:-

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कौन है वह किसान?

हम बात कर रहे हैं किसान जयराम गायकवाड़ (Jairam Gayakvad) की, जो मूल रूप से मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल जिले के बघोली गांव के रहने वाले हैंं। उनकी उम्र 54 साल है। उनका परिवार पूरी तरह से खेती पर निर्भर है। एक किसान परिवार से ताल्लुक रखने के बाद भी उन्होंने पढाई में कोई कसर नहीं छोड़ा।

तीन नौकरियां छोड़ी

आज के समय में लोग अक्सर नौकरी करना चाहते हैं। हमने देखा होगा कि ज्यादातर लोग पढ़ाई के बाद नौकरी करते हैं, लेकिन एक समय में उन्होंने कई सरकारी नौकरियों को खारिज कर दिया, उसके बाद उन्होंने कृषि को चुना।

उन्होंने बताया कि खेती शुरू करने से पहले उन्हें सीआरपीएफ, रेलवे और आर्मी जैसी जॉब ऑफर मिली थी लेकिन वह नौकरी करना चाहते थे लेकिन अपने गांव की मिट्टी छोड़ना नहीं चाहते थे, इसलिए उन्हें कोई नौकरी करना पसंद नहीं था। क्योंकि उसने अपने मन की खेती करने का फैसला किया था।

शुरु की जैविक खेती

तीन-तीन सरकारी नौकरी को ठुकराने के बाद किसान जयराम (Jairam Gayakvad) ने अपने परिवारिक परम्परा को ध्यान में रखते हुए खेती करने का मन बनाया। उन्होंने विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जैविक खेती करने का मन बनाया। इसके लिए उन्होंने अपने 30 एकड़ जमीन में से 10 एकड़ जमीन का चयन किया।

इसमें से पांच एकड़ में गन्ने की खेती, दो एकड़ में वर्मी कम्पोस्ट यूनिट, गौशाला व गोबर गैस प्लांट लगा चुके हैं। डेढ़ एकड़ में वह जैविक गेहूं उगाता है और शेष डेढ़ एकड़ में जैविक सब्जियों की खेती करता है।

Betul farmer jairam gayakvad earnings lakhs by farming and making biogas

खेती के साथ हीं गाय भी पाला

किसान जयराम गायकवाड़ (Jairam Gayakvad) ने जैविक खेती के साथ हीं साथ शुरुआती दौर में पशुपालन का मन बनाया। इसके लिए उन्होंने सबसे पहले 3 गाय खरीदे। इन गाय को उन्होंने पालने का काम किया, जिससे उन्होनें दूध उत्पादन का काम शुरु कर दिया। धीरे-धीरे गायों की संख्या बढ़ती गई, आज के समय में उनके गौशाला में 50 से ज्यादा गाय है। उन गायों के दूध से उन्हें बहुत अच्छी कमाई भी हो रही है।

नरेन्द्र मोदी भी कर चुके हैं समानित

अपने बेहतर सोच और कार्य के लिए किसान जयराम गायकवाड़ (Jairam Gayakvad) को हमेशा से कृषी विभाग के तरफ से सहायता मिलते आई है। वे 30 एकड़ भूमि पर जैविक खेती और दूध उत्पादन करते हैं। उन्हें बेहतर काम के लिए गुजरात के तात्कालिक मुख्यमंत्री तथा फिलहाल के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नें सम्मानित भी किया है।

अच्छी है आमदनी

जयराम गायकवाड़ (Jairam Gayakvad) का जैविक खेती तथा गाय पालन का कारोबार अब रफ्तार पकड़ चुका है। आज के समय में उनकी अच्छी-खासी आमदनी हो रही है। एक खास बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि कुल 30 एकड़ जमीन में से 10 एकड़ जमीन का उपयोग वे जैविक खेती के लिए कर रहे हैं। इस दस एकड़ में से 5 एकड़ में गन्ने की खेती की जा रही है, दो एकड़ में वर्मी कम्पोस्ट यूनिट, गौशाला एवं गोबर गैस संयंत्र लगाया गया है। इन सभी को मिला कर उन्हें सलाना 35 लाख रुपये का मुनाफा हो रहा है।

लोगों के लिए बने प्रेरणा

अपनी मेहनत और संघर्षों के बदौलत सफलता हासिल करते हुए जयराम गायकवाड़ (Jairam Gayakvad) ने अच्छी-खासी आमदनी हासिल किया है। उन्होंने तीन-तीन सरकारी नौकरी को छोड़ने के बाद कृषी के क्षेत्र में एक ऐसी पहचान बनाई है कि पूरे देश में उनका नाम लिया जा रहा है। आज के समय में वे उन लोगों के लिए प्रेरणा हैं जो पढ़ाई-लिखाई करने के बाद खेती नहीं करना चाहते हैं।

📣 Vaishali Se Hai is now available on Facebook & FB Group, Instagram, and Google News. Get the more latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast … to get updated!

Leave a Reply