Connect with us

Vaishali

VAISHALI: मनीष सेना में भर्ती के लिए रोज बांध पर दौड़ता था, लेकिन निराशा में उसने आत्महत्या कर ली।

Published

on

VAISHALI: मनीष सेना में भर्ती के लिए रोज बांध पर दौड़ता था, लेकिन निराशा में उसने आत्महत्या कर ली।

जिले के करतहा थाना क्षेत्र के कंचनपुर धनुषी गांव में एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

https://vaishalisehai.bgsraw.in/poll/kya-bihar-mei-sarab-ka-kanoon-wapas-hoga/

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया। मृतक की पहचान मनीष कुमार के रूप में हुई है। यह भी पढ़े: आलिया भट्ट की प्रेग्नेंसी पर कंडोम कंपनी ने दी ऐसी बधाई, पढ़कर रणबीर भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

युवक ने की आत्महत्या

घटना के संदर्भ में मृतक के परिजनों का कहना है कि मनीष सेना की तैयारी के लिए अपने गांव से सटे तिरहुत तटबंध पर रोज सुबह दौड़ता था। मंगलवार को भी वह सुबह घर से निकला और अपने दालान में जाकर फांसी लगाकर जान दे दी।

परिजनों का कहना है कि जब से सरकार की अग्निपथ योजना आई है, तब से ही मनीष डिप्रेशन में थे और आशंका जताई जा रही है कि उन्होंने इस डिप्रेशन में आकर आत्महत्या की है।

अग्निपथ प्लान के कारण तनाव में था मनीष

हालांकि पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस जांच के बाद ही घटना के पीछे के कारणों के बारे में कुछ बताने की बात कह रही है। इस मामले में वीरू राय मुखिया ने बताया कि मनीष की दिनचर्या यही थी कि वह सुबह 4:00 बजे उठकर बांध पर दौड़ता था।

वह सेना की तैयारी कर रहा था। मनीष ने दो-तीन बार सेना को बहाल करने की कोशिश भी की थी। अग्निपथ आने के कारण वह काफी डिप्रेशन में थे। प्रमुख ने बताया कि जब वह सुबह साढ़े चार बजे बांध पर जा रहे थे तो ऐसा लग रहा था कि वह अभ्यास के लिए जा रहे हैं।

उसका रोज का रूटीन था कि वह 4:00 बजे सुबह में उठकर बांध पर दौड़ता था. वह आर्मी की तैयारी करता था. एक दो बार बहाली के लिए कोशिश भी किया था जिसमें उसका सब कुछ क्लियर था. अग्निपथ आने के कारण वह काफी डिप्रेशन में था. 4:30 बजे सुबह में जा रहा था तो हम लोगों को लगा दिया दौड़ने जा रहा है. लेकिन बगल में इसका बथान है जहां आत्महत्या कर लिया.“- वीरू राय, मुखिया

क्या है अग्निपथ योजना

भारत सरकार द्वारा जिस अग्निपथ योजना की शुरुआत की गई है. उसमें बहाली के प्रथम वर्ष में 21 हजार रुपये वेतन के रूप में भारत सरकार के द्वारा प्रत्येक महीने भुगतान किया जाएगा. दूसरे वर्ष वेतन में वृद्धि कर 23 हजार 100 रुपये प्रत्येक महीने दिया जाएगा और तीसरे महीने 25 हजार 580 एवं चौथे वर्ष में 28 हजार रुपये वेतन के रूप में भुगतान करने के साथ ही उन युवाओं को रिटायर्ड कर दिया जाएगा. केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना के विरोध के बीच अभ्यर्थियों की आयु सीमा को 21 से बढ़ाकर 23 साल कर दी है. ये स्पष्ट किया गया है कि ये छूट सिर्फ इस साल सेना में भर्ती के लिए किया गया है. बता दें कि अग्निपथ योजना के तहत सेना में भर्ती के लिए सरकार ने साढ़े 17 साल से लेकर 21 साल की आयु निर्धारित की थी.

‘अंग्निपथ स्कीम’ से क्यों नाराज हैं छात्र

दरअसल, 2020 से आर्मी अभ्यर्थियों की कई परीक्षाएं हुई थी. किसी का मेडिकल बाकी था तो किसी का रिटेन. ऐसे सभी अभ्यर्थियों की योग्यता एक झटके में रद्द कर दी गई. पहले ये नौकरी स्थाई हुआ करती थी. मतलब सरकारी नौकरी का ख्वाब इससे नौजवान पूरा करते थे. नई स्कीम की तहत बताया गया कि अब चार साल की नौकरी होगी. इसमें सिर्फ 25 प्रतिशत अग्निवीरों को स्थाई किया जाएगा. 75 प्रतिशत चार साल बाद रिटायर हो जाएंगे. उनको पेंशन समेत बाकी सुविधाएं नहीं मिलेंगी.

Vaishali

HAJIPUR: सदर अस्पताल में सही इलाज न मिलने से महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

HAJIPUR: सदर अस्पताल में सही इलाज न मिलने से महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

Published

on

By

प्रसव के बाद तेज दर्द होने से महिला की सदर अस्पताल में मौत हो गई। महिला की मौत के बाद मृतका के परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया. घटना की सूचना पर नगर थाना पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया।

https://vaishalisehai.bgsraw.in/poll/kya-bihar-mei-sarab-ka-kanoon-wapas-hoga/

सिटी एसएचओ सुबोध कुमार सिंह ने बताया कि मामले में आवेदन मिलने के बाद पुलिस कार्रवाई करेगी। जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

परिजनों ने बताया कि सदर थाना क्षेत्र के मनवा गांव निवासी अनिल राम की पत्नी पूजा कुमारी (19) को प्रसव पीड़ा के चलते बुधवार की रात प्रसव के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सदर अस्पताल में मौजूद महिला स्टाफ ने परिजनों को बताया कि महिला और बच्चे की हालत बेहद नाजुक है.

महिला का बड़ा आपरेशन होगा। इसके लिए पांच हजार रुपया जमा करें। इसके बाद स्वजन तत्काल आपरेशन के लिए पांच हजार रुपया जमा कर दिए। आरोप है कि पैसे जमा कराने के बाद महिला का आपरेशन किया गया। आपरेशन के बाद बच्चा को निकाल कर नवजात शिशु गहन चिकित्सा केंद्र में उसे भर्ती करा दिया गया। जबकि महिला को वार्ड में रख दिया गया। प्रसव के पश्चात महिला की पीड़ा और अधिक बढ़ गई। इसके बाद स्वजनों ने मौके पर तैनात महिला डॉक्टर से उसका उपचार करने को कहा।

लेकिन अस्पताल में तैनात महिला डाक्टर इस ओर ध्यान नही दिया। जब महिला काफी छटपटाने लगी तो स्वजन शोर मचाने लगे उसके बाद उसे स्लाईन चढ़ाया गया लेकिन उसकी बेचैनी नही कमी तो उसे आक्सीजन लगा दिया गया। इसके बाद महिला चिकित्सक ने अपने कर्तव्य की इतिश्री समझ ली। मरीज की देखभाल सही ढ़ंग से नही करने के बाद कारण महिला की मौत हो गई। स्वजनों ने बताया कि पुत्र जन्म लेने के कारण सभी ने उससे जबरन तीन हजार रुपया भी खर्च करवा लिया। मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा गया। सूचना पर महिला के गांव से काफी संख्या में लोग सदर अस्पताल पहुंच गए।

मौके पर जुटे लोगों ने सदर अस्पताल में जमकर बवाल किया। सदर अस्पताल में हंगामे की सूचना पाकर मौके पर पहुंची नगर थाना की पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझा कर तथा उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाकर मामले को शांत करवाया।

Continue Reading

Vaishali

वैशाली में ताजिया जुलूस के दौरान लोगों ने एक-दूसरे पर लाठियां बरसाईं

वैशाली में ताजिया जुलूस के दौरान लोगों ने एक-दूसरे पर लाठियां बरसाईं

Published

on

By

बिहार के वैशाली में वर्चस्व की लड़ाई में ताजिया जुलूस के बहाने दो पक्षों (वैशाली में दो गुटों के बीच झड़प) ने जमकर हंगामा किया। दर्जनों लोगों ने घंटों तक एक-दूसरे पर जमकर लाठियां भांजी। फिर दोनों पक्षों की ओर से जमकर हंगामा हुआ।

https://vaishalisehai.bgsraw.in/poll/kya-bihar-mei-sarab-ka-kanoon-wapas-hoga/

घटना में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं, जो इलाज के लिए निजी नर्सिंग होम में छिपे हुए हैं। घटना का वीडियो भी तेजी से वायरल हो रहा है, हालांकि इस संबंध में न तो पार्टी ने पुलिस को जानकारी दी है और न ही पुलिस ने इसके सोर्स या वायरल वीडियो के आधार पर कोई कार्रवाई की है. मामला जिले के राजापाकर प्रखंड के राजापाकर उत्तर पंचायत में स्थित कब्रिस्तान के पास का है।

आगे निकलने को लेकर हुआ विवादः

बताया जा रहा है एक ही ग्रामीण सड़क पर एक ही समय में दो ताजिया जुलूस के अखाड़े आ गए थे. फिर आगे निकलने को लेकर दोनों में विवाद शुरू हुआ और बात मारपीट तक पहुंच गई. दोनों तरफ से लाठियां बरसाई गईं. उसके बाद रोड़े भी चले. हालांकि जब दोनों पक्ष एक दूसरे पर लाठियां बरसा रहे थे, तब स्थानीय बुजुर्ग लोगों ने समझा बुझाकर मामला के शांत करवा दिया था. लेकिन जैसे ही एक पक्ष जाने के लिए मुड़ा दूसरे पक्ष ने रोड़ेबाजी शुरू कर दी. फिर पहले ने भी जवाबी हमला किया और दोनो पक्ष दोबारा भिड़ गए.

चर्चा का विषय बना मामलाः

इस घटना में घायल हुए लोगों को इलाज के लिए स्थानीय निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। बाद में दोनों पक्षों ने पंचायती कर मामले को थाने जाने से रोक दिया। घायलों की जानकारी पुलिस को नहीं दी गई।

सूत्रों के मुताबिक सभी घायलों का इलाज पास के निजी अस्पतालों और झोलाछाप डॉक्टरों में चल रहा है। वहीं वीडियो वायरल होने की वजह से बैलेटिंग का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है.

मामले को लेकर पुलिस सतर्कः

सूत्रों की माने तो पुलिस दोनो पक्षों से मिली थी, लेकिन दोनों ने ही मामला दर्ज कराने से इनकार कर दिया है. जिसके बाद पुलिस सतर्क होकर नजर बनाए बनाए हुई है. ताकि मामला दोबारा तूल नहीं पकड़े. हालांकि इस विषय में महुआ एसडीपीओ पुनम केशरी से कई बार संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन फोन पर भी उनसे संपर्क नहीं हो पाया. वही राजापाकड़ थानाध्यक्ष रविकांत पाठक ने बताया कि किसी पक्ष के द्वारा मामला दर्ज कराने पर पुलिस करवाई करेगी.

Continue Reading

Vaishali

हाजीपुर स्टेशन पर 20 मोबाइल के साथ युवक गिरफ्तार

हाजीपुर स्टेशन पर 20 मोबाइल के साथ युवक गिरफ्तार

Published

on

By

Youth caught with mobile recovered in GRP police station of Hajipur railway station

जीआरपी ने हाजीपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार से एक युवक को विभिन्न ब्रांड के 20 मोबाइल के नए पैक के साथ गिरफ्तार किया। पकड़ा गया युवक प्रेम कुमार देसीरी थाना क्षेत्र के चकमोहम्मदपुर गांव का रहने वाला है।

https://vaishalisehai.bgsraw.in/poll/kya-bihar-mei-sarab-ka-kanoon-wapas-hoga/

इस संबंध में जीआरपी एसएचओ जय सिंह टीयू ने बताया कि हाजीपुर रेलवे स्टेशन और प्लेटफार्म पर रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए चे ̈कग अभियान चलाया जा रहा था। इस दौरान प्लेटफार्म नंबर चार पर चेकिंग के दौरान युवक के बैग से अलग-अलग ब्रांड के 20 नए मोबाइल बरामद हुए।

युवक से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसने चेन्नई से मोबाइल खरीदा था। हालांकि युवक के पास चेन्नई से खरीदे गए मोबाइल की कोई रसीद नहीं थी।

युवक ने पुलिस को बताया कि वह चेन्नई से मोबाइल खरीदकर बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से हाजीपुर स्टेशन पर उतरकर देसीरी जाने के लिए प्लेटफार्म पर ट्रेन का इंतजार कर रहा था।

📣 Vaishali Se Hai is now available on Facebook & FB Group, Instagram, and Google News. Get the more latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast … to get updated!

Continue Reading
Advertisement

Trending

close button