बड़ी राहत मिलेगी: पटना-गया-डोभी एनएच मार्च 2023 में काम करेगा, 50% का निर्माण किया गया है

पटना: बिहार के लोगों के लिए बेहद अच्छी खबर है। विशेष तौर पर पटना-गया रूट और राजगीर-सासाराम के लोगों के लिए। दरअसल, निर्माणाधीन पटना-गया-डोभी एनएच-83 का निर्माण कार्य अगले साल मार्च में पूरा हो जाएगा। इस पर वाहनों का

परिचालन शुरू होगा। एनएच का 50 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। अब एनएचएआई की चेयरमैन अल्का उपाध्याय ने अधिकारियों को जल्द ही निर्माण पूरा कराने का निर्देश दिया है। इस प्रोजेक्ट के लिए 5,519 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस सड़क के बन जाने से पटना से झारखंड और बंगाल जाना आसान हो जाएगा। बता दें तीन पैकेजों में पटना-मसौढ़ी-जहानाबाद-मखदुमपुर-बेलागंज-गया-बोधगया तक बन रहे 127 किलोमीटर लंबे एनएच का 50 फीसदी निर्माण डेढ़ साल में हो पाया है।

निर्माणाधीन पटना-गया सड़क

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को भागलपुर तक विस्तारित करने की अपील

एनएचएआई की चेयरमैन पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस संजय करोल व जस्टिस एस.कुमार की खंडपीठ के समक्ष पेश हुईं। उन्होंने एनएचएआई के सभी वरीय अधिकारियों, रिजनल अधिकारियों, प्रोजेक्ट अधिकारियों, पर्यवेक्षण प्रतिनिधियों के साथ बिहार में चल रही एनएचएआई परियोजनाओं को लेकर समीक्षा बैठक कीं। एनएच परियोजनाओं के लिए जमीन और अन्य प्रशासनिक मुद्दों पर सूबे के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी से भी मुलाकात की। पथ निर्माण मुख्यालय में मंत्री नितिन नवीन से एनएच परियोजनाओं पर बातचीत कीं। मंत्री ने चेयरमैन से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को भागलपुर तक विस्तारित करने, रक्सौल-पटना-हल्दिया पथ का एलाइनमेंट शीघ्र फाइनल करने के साथ पटना-आरा-सासाराम, अरेराज-बेतिया, मोकामा-मुंगेर एवं बक्सर-हैदरिया मार्ग डीपीआर शीघ्र तैयार कर टेंडर कराने का अनुरोध किया।

इन परियोजनाओं को भी मिलेगी रफ्तार

औंटा-सिमरिया 6 लेन पुल का निर्माण। मुंगेर-मिर्जाचौकी 4 लेन सड़क। महेशखुंट-सहरसा-पूर्णिया एनएच का निर्माण जल्द ही पूरा कराया जाएगा।

See also  ट्रैन अलर्ट: दरभंगा और गोमती एक्सप्रेस रद्द, पुरी एक्सप्रेस के समय में बड़ा बदलाव, जल्द देख लो!

दो साल में बदल जाएगी राजधानी की तस्वीर

दो सालों में आधारभूत संरचना के क्षेत्र में बिहार के लिए काफी महत्वपूर्ण है। आधा दर्जन से ज्यादा मेगा पुल और प्रोजेक्ट अस्तित्व में आ जाएंगे। इनमें कई परियोजनाएं पटना से सीधे तौर पर जुड़ी हुई हैं। इनके पूरा हो जाने से पटना और उसके आस पास के क्षेत्रों में यातायात व्यवस्था में काफी सुधार हो जाएगा। इनमें सबसे अहम है महात्मा गांधी सेतु को उत्तर और दक्षिण बिहार का लाइफ लाइन कहा जाता है। गांधी सेतु के समानांतर एक और पुल बनाया जा रहा है, जिसका निर्माण सितंबर 2024 तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। इस पुल को बनाने में 2,926.42 करोड़ रुपये लगेंगे। इस पुल के बन जाने के बाद पटना से हाजीपुर पहुंचना काफी आसान हो जाएगा।

📣 Vaishali Se Hai is now available on Facebook & FB Group, Instagram, and Google News. Get the more latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast … to get updated!