VAISHALI में मूर्ति की विसर्जन करने गए टाटा कंपनी के दो स्टाफ डूबे

हाजीपुर के गंडक नदी में डूबने दो युबक की मौत। खबर के अनुसार दोनों युवक बाबा विश्वकर्मा भगवान की प्रतिमा का विसर्जन करने गए थे इसी दौरान अचानक गहरे पानी में उतर गए जिनके कारण ये हादसा हो गया।

यह घटना नगर के सीढ़ी घाट की है मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम दोनों युवक की तलाश में जुट गई लेकिन अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है। गंडक नदी में डूबने वाले दोनों युवक टाटा कंपनी में कार्यरत थे।

लोगों ने कहा घाट पर व्यवस्थाओं के नाम पर कुछ नहीं

मूर्ति विसर्जन के दौरान घाट के किनारे प्रशासन की ना तो कोई व्यवस्था थी और ना ही एक भी नाव मौजूद था। इस घटना के बारे में टाटा मोटर्स के कर्मी ने ही बताया कि मूर्ति विसर्जन के लिए कई लोग शिर्डी घाट गए थे। सी बीच मूर्ति को गंडक नदी में गिराने के दौरान अभिषेक नाम का युवक नदी में अचानक गिर गया जिसे बचाने के लिए एक दूसरा युवक जिनका नाम था मुन्ना मैं भी नदी में छलांग लगा दी ऐसे में दोनों नदी में डूबने लगे।

लोगों ने की थी युवक को बचाने की कोशिश

दोनों युवक को डूबते देख वहां मौजूद लोगों ने उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन नदी में तेज धार में दोनों बह गए। टाटा कंपनी के कर्मचारियों ने यह आरोप लगाया कि घाट पर प्रशासन के तरफ से कोई व्यवस्था नहीं थी जिसके कारण घटना के 1 घंटे बाद एनडीआरएफ की टीम वहां मौके पर पहुंची ऐसे में अब उन्हें दोनों को कुछ पता नहीं चल सका है।

See also  HAJIPUR: एलआईसी एजेंट अपनी मांगों को लेकर काला बिल्ला लगाएंगे

तलाशी अभियान चलाया जाएगा:

जानकारी के मुताबिक दोनों युवक लापता हैं। ऐसे में अधिकारियों के आदेश पर रेस्क्यू बोट के जरिए दोनों युवकों की तलाश की जाएगी। वहीं टाटा मोटर्स के कर्मचारी अजीत कुमार ने कहा कि हम सभी टाटा मोटर्स के कर्मचारी हैं। मूर्ति को विसर्जन के लिए पहली सीढ़ी से फेंका गया था, जिसमें अभिषेक नाम का एक लड़का पानी के नीचे चला गया था। इसके बाद मुन्ना ने उसका हाथ पकड़ना चाहा और वह पानी में चला गया।