VAISHALI: किसानों के लिए फायदेमंद है अंजीर की खेती, दिया गया प्रशिक्षण

0
88

स्थानीय दिग्घी स्थित जिला कृषि कार्यालय के सभागार में मंगलवार को जिले में अंजीर की खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में सभी प्रखंड तकनीकी प्रबंधक, कृषि समन्वयक, सहायक तकनीकी प्रबंधक एवं जिलेभर से आए प्रगतिशील किसानों ने भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन जिला कृषि पदाधिकारी डॉ. वेद नारायण सिन्हा, कृषि विशेषज्ञ अनिल कुमार, ज्ञान प्रकाश, कृषि वैज्ञानिक शष्य डॉ. आईबी पांडे, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिक डॉ. रवीन्द्र प्रसाद ने संयुक्त रूप से किया।

जिला कृषि पदाधिकारी डॉ. वेद नारायण सिंह ने कहा कि देश में अंजीर की खेती का चलन तेजी से बढ़ रहा है। अंजीर बड़े पैमाने पर किसान अब कम लागत में अधिक मुनाफा देने वाले इस अंजीर की खेती करने की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखकर अंजीर की खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि वैशाली जिले में अंजीर की खेती के लिए असीम संभावनाएं हैं।

आज के दौर में व्यवसायिक खेती कृषकों के लिए बहुत ही लाभदायक होगी। साथ ही उनके द्वारा कृषकों को अंजीर की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया। कृषि विशेषज्ञ अनिल कुमार, ज्ञान प्रकाश ने अंजीर की खेती के लिए विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने अंजीर की खेती करने की किसानों से अपील की। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय के उक्त वैज्ञानिकों ने कहा कि वैशाली जिले में अंजीर की खेती के लिए स्थानीय हरिहरपुर कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा किसानों को समय-समय पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

VOTE NOW क्या बिहार में दारू का कानून वापस लिया जायेगा?

नहीं
50.00%
हाँ
50.00%
पता नहीं
0.00%
See also  अब बिहार में लाल ईंट का लाइसेंस नहीं मिलेगा, सिर्फ 2 लाख निवेश से शुरू करें वैकल्पिक कारोबार

अंजीर की खेती को अपनाकर बढ़ा सकते हैं आय

संचालन आत्मा के उप परियोजना निदेशक सियाराम साहु ने किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रगतिशील किसान हरिवंश नारायण सिंह एवं जितेन्द्र कुमार सिंह ने किसानों को अंजीर की खेती को अपनाकर अपने आय बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के उपरांत 150 किसानों को अंजीर का पौद्या वितरण किया गया जिससे किसान अपने यहां लगा सके। प्रशिक्षण कार्यक्रम में आत्मा के उप परियोजना निदेशक रमण कुमार सहित सभी कृषि पदाधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि अंजीर की खेती के करने वाले इच्छुक किसानों को आगे भी प्रशिक्षण एवं सहयोग दिया जाएगा।

Leave a Reply