VAISHALI: जहां पैगंबर का नाम लेकर सिर शरीर से अलग हो जाता है… जबकि सीएम नीतीश ने हिंदुओं का अपमानित किया

वैशाली: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. उन्होंने विष्णुपद मंदिर में एक गैर हिंदू मंत्री के प्रवेश पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि यहां पैगंबर के नाम पर सिर काटे जाते हैं, जबकि नीतीश कुमार ने हिंदुओं को नीचा दिखाने का काम किया है।

गिरिराज सिंह का सीएम नीतीश पर हमला

गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश एकमात्र सफल मुख्यमंत्री हैं जो बहुमत पाने में नाकाम रहे हैं। नीतीश अमराल्टा की तरह किसी और के पेड़ पर चढ़कर खुद को फैलाने का काम करते हैं।

वहीं बिहार में सीबीआई के आचरण पर उन्होंने कहा कि सीबीआई अपना काम कर रही है. इसमें कोई इंटरफ़ेस नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार पूरे बिहार को आतंकियों का स्लीपर सेल बनाना चाहती है।

नबी का नाम लेने से सिर शरीर से अलग हो जाता है:

गिरिराज सिंह ने कहा कि पैगंबर का नाम लेकर सिर शरीर से अलग हो जाता है, नीतीश कुमार हिंदुओं को नीचा दिखाने का काम कर रहे हैं. ऐसा नहीं है कि मुख्यमंत्री पहली बार विष्णुपद मंदिर गए होंगे।

बोर्ड के पास सभी भाषाओं में लिखी जानकारी है। क्या कोई इस तरह से दूसरे धर्म का अपमान कर सकता है? विष्णुपद मंदिर में जो हुआ वह संयोग नहीं था, यह एक साजिश थी।

‘नीतीश सीएम सामग्री भी नहीं’:

गिरिराज सिंह दो दिवसीय दौरे पर हाजीपुर पहुंचे। जहां उन्होंने संघ और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कई दौर की महत्वपूर्ण बैठकें कीं। प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ अहम बैठक करने आए केंद्रीय मंत्री ने नीतीश कुमार पर हमला बोला है।

See also  HAJIPUR: नाबालिग बेटी से रेप के आरोप में पिता को सजा

अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन केंद्रीय मंत्री ने सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार पीएम मैटेरियल भी नहीं हैं, सीएम मैटेरियल भी नहीं हैं।

“मैंने नीतीश कुमार को सांप, दो साल में केंचुआ छोड़ते हैं, नहीं कहा था. मैंने नहीं कहा था कि ये गिरगिट हैं. मैंने नहीं कहा था कि पलटू राम हैं बल्कि उनके ही भतीजा और बड़े भाई ने कहा था.”- गिरिराज सिंह, केंद्रीय मंत्री

पूरी बात क्या है?:

बता दें कि गया में 9 से 25 सितंबर तक विश्व प्रसिद्ध पत्रपक्ष मेला लगने जा रहा है. सीएम नीतीश कुमार इस सिलसिले में सोमवार को गया पहुंचे। जहां उन्होंने पत्रपक्ष मेले की तैयारियों का जायजा लिया और विष्णुपद मंदिर के गर्भगृह में पूजा-अर्चना भी की।

उनके साथ बिहार सरकार के सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री, गया जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद इजरायल मंसूरी भी थे। गयाजी में विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर के मुख्य द्वार पर ‘गैर-हिंदू प्रवेश निषिद्ध’ लिखा हुआ है। फिर भी मंत्री अंदर चले गए। जिस पर अब हंगामा शुरू हो गया है।