BIHAR: कौन है ये पायलट मोनिका, जिसने पटना में जलते विमान को सुरक्षित उतारा और 185 लोगों की जान बचाई, यहाँ जाने

0

पटना से दिल्ली जा रहे स्पाइस जेट के विमान में उड़ान भरते ही पक्षी टकरा गया। लैंडिंग के बाद आग बुझाई गई और यात्रियों को बाहर निकाला गया। ये है मोनिका, जिसने जलते हुए विमान को सुरक्षित उतारकर पटना में एक बड़ा हादसा टाला, 19 मिनट तक हवा में फंसी रही उसकी सास:

रविवार दोपहर 12.03 बजे पटना एयरपोर्ट से उड़ान भरने के कुछ देर बाद स्पाइसजेट की दिल्ली फ्लाइट एसजी 723 के इंजन नंबर एक में बर्ड हीटिंग हुई। पक्षी के टकराने की आवाज कैप्टन मेनका खन्ना और को-पायलट बलप्रीत सिंह भाटिया ने सुनी। इसके बाद एटीसी ने एप्रोच कंट्रोल से कैप्टन और को-पायलट को संदेश भेजा कि बाएं इंजन से धुआं निकल रहा है और आग की लपटें निकल रही हैं।

पायलट, काे-पायलट ने SOP के तहत क्विक रिसर्च हैंड बुक देखा और एसऔपी के तहत उस इंजन काे बंद कर दिया जिससे धुआं ओर आग निकल रही थी। सर्विस फ्लाइट में दाे इंजन इसलिए दिया जाता है कि किसी तरह की अनहाेनी हाेने पर एक इंजन पर ही फ्लाइट की सेफ लैंडिंग कराई जाए। सिर्फ लड़ाकू विमान में एक इंजन हाेता है इसलिए इसके फेल हाेने पर पायलट की परेशानी बढ़ जाती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

एक इंजन में लगी आग, पायलट ने इंजन बंद कर 2000 फीट की ऊंचाई से रनवे पर उतारा विमान, 185 यात्री बाल-बाल बचे

पटना में रविवार को एक बड़ा हादसा टल गया। पटना एयरपोर्ट से दिल्ली जा रहा स्पीजेट का एक विमान उड़ते ही पक्षी से टकरा गया। इससे बाएं इंजन में आग लग गई। उस समय यह विमान 2000 फीट की ऊंचाई पर था। पायलट, कैप्टन मनिका ने विवेक का प्रदर्शन करते हुए पहले इंजन को बंद कर दिया, जिसमें आग लग गई थी और विमान को रनवे पर सुरक्षित रूप से उतारकर 185 यात्रियों की जान बचाई गई थी।



स्पाइसजेट की फ्लाइट में आग लगने के बाद इस विमान में सवार यात्री के परिजनों को पटना में 22 साल पहले गर्दनीबाग में हुए विमान हादसे की याद ताजा हो गई। इससे वे लोग और सहम गए थे।

उड़ान भरते ही विमान में तेज धमाका हुआ। सभी यात्री सहम गए। हवा में विमान हिचकाेले खाने लगा। यात्रियाें ने विंडाे से देखा कि एक इंजन से स्पार्क हाे रहा था। इससे अफरातफरी मच गई। पायलट ने कहा कि हालात नियंत्रण में है, पैनिक न हों, हम पटना एयरपोर्ट लौट रहे हैं। 185 यात्रियाें में ज्यादातर पटना के थे। लैंडिंग के बाद 20 लाेगाें ने यात्रा रद्द कर दी। दिल्ली से एक खाली विमान करीब साढ़े पांच बजे पटना पहुंचा और छह बजे 165 यात्रियाें काे लेकर रवाना हुआ।

एयरपाेर्ट प्रशासन काे जैसे ही विमान में अाग की सूचना मिली, इमरजेंसी घाेषित कर दी गई। 40 मिनट तक एयरपाेर्ट पर किसी भी विमान की लैंडिंग और टेकआफ नहीं कराया गया। इस दाैरान करीब चार-पांच फ्लाइट पटना एयरपाेर्ट के आसपास हवा में चक्कर लगाते रहे। एयरपाेर्ट निदेशक अंचल प्रकाश ने कहा कि हमें एटीसी से इसकी जानकारी मिली थी। किसी भी अनहाेनी की आशंका काे देखते हुए रनवे पर एंबुलेंस, फायर टेंडर काे तैनात कर दिया गया था।

जिस वक्त एटीसी को आग की लपटें दिखीं, उस समय विमान करीब 2000 फीट की ऊंचाई पर खगाैल से आगे तक चला गया था। कैप्टन ने जिस इंजन में आग लगी, उसे फाैरन बंद कर दिया और 12 बजकर 22 मिनट पर सुरक्षित इमरजेंसी लैंड कराई। लैंडिंग के वक्त भी विमान से आग की लपटेें उठ रही थीं। विमान फुलवारीशरीफ के कई ऊंचे भवन, पेड़ से टकराते-टकराते बचा। विमान में 185 यात्री, चार क्रू मेंबर, एक पायलट और एक काे-पायलट थे। सभी बाल-बाल बच गए। विमान लैंड हाेने के बाद सभी यात्रियाें ने कैप्टन माेनिका काे शाबाशी देते हुए कहा- वेल डन मैम। आपकी वजह से सबाें की जान बच गई। सूत्राें के अनुसार, डीजीसीए और स्पाइस जेट की टेक्निकल टीम ने घटना के पीछे बर्ड हीटिंग बताया है। डीजीसीए मामले की जांच कर रही है।

इंग्लिस सुमारी:

One engine caught fire, the pilot landed the plane on the runway from a height of 2000 feet with the engine off, 185 passengers saved

📣 Vaishali Se Hai is now available on Facebook & FB Group, Instagram, and Google News. Get the more latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast … to get updated!

Leave a Reply