बिना इंटरनेट के देख सकेंगे FILM और OTT कंटेंट, HD क्वालिटी वीडियो और NO बफरिंग, जानिए कैसे होगा

0
You will be able to watch FILM and OTT content without internet, no buffering and high quality video, know how it will happen

फिल्में INTERNET कनेक्शन के बिना भी देखी जा सकती हैं। क्रिकेट का लाइव स्कोर पता चलेगा और मल्टीमीडिया कंटेंट (Multimedia Content) को एक्सेस कर पाएंगे.

यूजर Direct-to-mobile यानी D2M ब्रॉडकास्टिंग टेक्नोलॉजी की मदद से यह सब हासिल कर सकेगा। दूरसंचार विभाग (DoT) और लोक सेवा प्रसारक प्रसार भारती मिलकर काम कर रहे हैं कि इस प्रौद्योगिकी के क्या लाभ हैं और इसे उपयोगकर्ता तक कैसे पहुंचाया जा सकता है।

WHAT’S APP GROUPJOIN NOW
TELEGRAM CHANNELJOIN NOW
FACEBOOK GROUPJOIN NOW

दूरसंचार विभाग ने इस नई तकनीक के परीक्षण के लिए IIT कानपुर के साथ साझेदारी भी की थी। अगर सब कुछ प्लान के मुताबिक हुआ तो यूजर्स बिना इंटरनेट के मल्टीमीडिया कंटेंट देख सकेंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

D2M Broadcasting Technology क्या है, यह कैसे काम करती है और इससे आम आदमी को कैसे फायदा होगा? जानिए इन सवालों के जवाब



बिना इंटरनेट के देख सकेंगे FILM और OTT कंटेंट, न बफरिंग और हाई क्वालिटी वीडियो

D2M Broadcasting Technology क्या है?

सरल भाषा में समझें, यह तकनीक सीधे आपके मोबाइल पर मल्टीमीडिया सामग्री का प्रसारण करेगी। जैसे आप एफएम को सुनते हैं और इसके लिए किसी भी तार कनेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है। लाइव क्रिकेट मैचों या समाचारों से अपडेट तेज गति के साथ उपलब्ध होंगे। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, इस तकनीक के जरिए यूजर बिना इंटरनेट के अपने मोबाइल पर OTT कंटेंट भी देख सकेगा।

यूजर्स को कितना फायदा होगा?

वर्तमान में, कई बार धीमे इंटरनेट कनेक्शन के कारण, वीडियो की दृश्य गुणवत्ता प्रभावित होती है, बफरिंग होती है और सामग्री रुक जाती है। प्रसारण तकनीक के जरिए इन समस्याओं से निजात मिलेगी क्योंकि इसके लिए इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

इसका एक और फायदा है। इससे यूजर्स तक फर्जी जानकारी पहुंचने से रोकने में मदद मिलेगी। हर जानकारी सीधे यूजर्स तक पहुंच जाएगी। देश में इमरजेंसी की स्थिति में इंटरनेट बाधा नहीं बनेगा। हर जानकारी सीधे उपयोगकर्ता के लिए सुलभ होगी।

इस तकनीक का बड़ा फायदा उन लोगों को मिलेगा जो दूरदराज या गांवों में रहते हैं जिनके पास इंटरनेट या इंटरनेट कनेक्टिविटी कमजोर नहीं है।

कितनी अलग है यह तकनीक?

आसान भाषा में समझें तो यह तकनीक ब्रॉडबैंड और ब्रॉडकास्ट से मिलकर विकसित की गई है. हाल ही में दिल्ली में आयोजित हुए ‘डायरेक्ट-टू-मोबाइल एंड 5G ब्रॉडबैंड कनवर्जेंस रोडमैप फॉर इंडिया’ प्रोग्राम में इससे जुड़ी कई अहम जानकारियां दी गईं. इस प्रोग्राम में सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव अपूर्व चंद्रा ने कहा, डायरेक्ट-टू-मोबाइल और 5G ब्रॉडबैंड मिलकर देश में ब्रॉडबैंड और स्पेक्ट्रम के इस्तेमाल में सुधार लाएंगे.

अगर सब कुछ योजना के अनुसार होता है तो D2D ब्रॉडकास्टिंग तकनीक देश में एक बड़ा गेमचेंजर साबित हो सकती है। इससे यूजर्स के साथ टेलीकॉम कंपनियों को सीधा फायदा होगा। वे इस तकनीक के साथ अपने मोबाइल नेटवर्क से प्रसारण नेटवर्क पर वीडियो ट्रैफ़िक को ऑफलोड कर सकते हैं।

📣 Vaishali Se Hai is now available on Facebook & FB Group, Instagram, and Google News. Get the more latest news & stories updates, also you can join us for WhatsApp broadcast … to get updated!

Leave a Reply